एयर फ्रांस का विमान लापता (Air France plane goes missing)

  उड़ते तीर You are here
Views: 1274
पेरिस। ब्राजील के बंदरगाह शहर रियो डि जेनेरियो से पेरिस जा रहा एयर फ्रांस का एक विमान सोमवार को अटलांटिक महासागर के ऊपर उड़ान भरते वक्त अचानक लापता हो गया। एयर फ्रांस ने विमान के महासागर में उठे तूफान की वजह से तकनीकी खामी का शिकार होकर दुर्घटनाग्रस्त होने की आशंका जताई है। विमान में चालक दल के 12 सदस्यों सहित 228 यात्री सवार थे।

एयर बस ए330-200 जेट ने रियो डि जेनेरियो से उड़ान भरने के चार घंटे बाद ग्रीनविच समयानुसार तड़के दो बजकर 14 मिनट पर इलेक्ट्रिक सर्किट में गड़बड़ी का संदेश भेजा था। ब्राजील की वायुसेना ने फर्नांडो डि नोरोन्हा द्वीप के पास तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। फ्रांसीसी वायुसेना भी विमान की खोज के लिए रवाना हो चुकी है।

अगर विमान पर सवार सभी यात्रियों की मौत की पुष्टि होती है तो यह बीते एक दशक का सबसे बड़ा हवाई हादसा होगा। फ्रांस के एक मंत्री जीन लुईस बोरलू ने विमान के अपहरण की किसी संभावना को खारिज कर दिया है। एयर फ्रांस के संचार निदेशक फ्रांकिओस ब्रोउजी ने कहा कि ज्यादा आशंका इस बात की है कि विमान आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया होगा। राडार से लापता होते वक्त विमान तूफान वाले क्षेत्र में उड़ रहा था। विमान पर सवार यात्रियों में सबसे अधिक 60 लोग ब्राजील के थे।

पिछले तीन साल में दस बड़े विमान हादसे

20 मई 2009-इंडोनेशियाई सेना का यात्री विमान पूर्वी जावा में उतरते वक्त दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में विमान पर सवार 110 यात्रियों में से 98 की मौत। विमान का मलबा जमीन पर गिरने से दो नागरिक भी मारे गए।

24 अगस्त 2008-किर्गिस्तान के बिश्केक हवाईअड्डे पर निजी कंपनी का बोइंग 737-200 विमान दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में विमान पर सवार स्थानीय बास्केटबाल टीम के सभी सदस्यों समेत 70 यात्रियों की जान गई।

20 अगस्त 2008-स्पेनएयर का एमडी-82 विमान मैड्रिड हवाईअड्डे से उड़ान भरते वक्त दुर्घटनाग्रस्त। इस हादसे में विमान पर सवार 166 यात्रियों और चालक दल के छह सदस्यों में से 154 की मौत। बाकी बचे 18 गंभीर रूप से जख्मी।

16 सितंबर 2007-थाइलैंड की 'वन-टू-गो' विमानसेवा का विमान फुकेट में उतरते वक्त दुर्घटनाग्रस्त। विमान पर सवार 130 यात्रियों और चालक दल के सदस्यों में से 90 की मौत।

17 जुलाई 2007-ब्राजील का टीएएम यात्री विमान साओ पाउलो में उतरते वक्त बस्ती में गिरा। हादसे में विमान पर सवार सभी यात्रियों और जमीन पर मौजूद कई नागरिकों समेत 199 की मौत।

5 मई 2007-केन्या एयरवेज का बोइंग 737 विमान कैमरून के दोउला से उड़ान भरने के तुरंत बाद तूफानी बारिश में फंसकर दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में सभी 114 यात्रियों की जान गई।

1 जनवरी 2007-इंडोनेशिया का बोइंग 737-400 विमान जावा से सुलावेसी द्वीप की उड़ान के दौरान राडार से लापता। विमान का मलबा दस दिन बाद समुद्र में दिखा। हादसे में सभी 102 यात्रियों की मौत।

29 अक्टूबर 2006-नाइजीरिया का बोइंग 737 विमान अबूजा से सोकोतो के लिए उड़ान भरते वक्त दुर्घटनाग्रस्त। फ्लाइट में सवार 106 यात्रियों में से 99 की मौत। मृतकों में सोकोतो के सुल्तान इब्राहिम मुहम्मदू भी शामिल।

29 सितंबर 2006-ब्राजील की गोल एयरलाइन का बोइंग 737-800 विमान अमेजन वर्षा वनों में दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में सभी 154 यात्रियों की मौत।

22 अगस्त 2006-रूस की पुलकोवो एयरलाइंस का टीयू-154 विमान यूक्रेन के दोनेस्क शहर के करीब दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में चालक दल के सदस्यों समेत सभी 170 यात्रियों की मौत। ===============================

In English

Paris: An Air France plane with 228 people on board was presumed to have crashed into the Atlantic Ocean on Monday after hitting heavy turbulence during a flight from Rio de Janeiro to Paris. The airline offered its condolences to the families of the passengers, making clear it did not expect to find survivors. At least 60 of those on board were French, roughly 60 were Brazilians and two were Slovaks, their countries said. Air France said the Airbus flew into stormy weather four hours after takeoff from Brazil and lost contact with air traffic control. Soon afterwards, it sent automatic distress signals, reporting electrical faults. A company spokesman said several of the plane’s mechanisms had malfunctioned. ‘‘It is probably a combination of circumstances that could have led to the crash,’’ he said, adding that the airliner might have been hit by lightning.

Aviation experts said lightning strikes on planes were common and taken alone, could not explain a disaster. The Brazilian air force said the plane was far out over the the sea when it went missing.

Military aircraft took off from the island of Fernando de Noronha off Brazil’s northeast coast to look for the missing plane and the Brazilian navy sent three ships. France sent one of its air force planes from west Africa.


Latest Posts

  Posted on Tuesday, June 2nd, 2009 at 10:38 AM under   उड़ते तीर | RSS 2.0 Feed